Tue. Feb 23rd, 2021

बिहार के मुजफ्फरपुर में 12 वर्षीया बच्ची से गैंगरेप कर जिंदा जलाकर मारने की घटना में पुलिस ने आरोपित की मां सहित छह को हिरासत में ले लिया है। वहीं नामजद चार फरार आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी भी कर रही है। हैवानियत की घटना जिले के साहेबगंज के गांव में घटी थी। मामले में एसएसपी जयंतकांत और एसडीपीओ सरैया राजेश शर्मा ने गांव जाकर छानबीन की। पिता, बहन और दादा-दादी से पूछताछ की। इसके बाद एसएसपी और एसडीपीओ साहेबगंज थाने पहुंचकर थानेदार के साथ केस की समीक्षा की। हिरासत में लिए गए लोगों से गहन पूछताछ की। फरार आरोपितों को पुलिस या कोर्ट में समर्पण कराने के लिए चेतावनी दी। एसएसपी ने बताया कि जांच की जा रही है। कुछ लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। जल्द आरोपितों की भी गिरफ्तारी होगी। एसएसपी ने पीड़ित परिवार को 24 घंटे में बच्ची का शव बरामद करने का आश्वासन दिया है।


पीड़िता के पिता ने बताया कि कांड का मुख्य आरोपित उनके एक रिश्तेदार का ही बेटा है। पिता ने एसडीपीओ को बताया कि उनके समाज के कई लोगों ने मामले को खत्म कराने के लिए दबाव भी बनाया। रविवार को पंचायती भी हुई। इसमें आरोपितों को छह साल के लिए गांव से बाहर निकालने का फरमान भी सुनाया। लेकिन उन्हें अपनी बेटी के लिए इंसाफ चाहिए। इसलिए थाने में एफआईआर कराई। पुलिस को पीड़िता की बड़ी बहन और चश्मदीद ने पुलिस को बताया कि दिन के दस बजे दादा खाना खाकर गांव में टहलने चले गए थे। वह भी दादी के साथ एक चाचा के घर गई थी। बहन घर पर अकेली थी। इस दौरान आरोपितों ने रेप के बाद पीड़िता को जिंदा जला दिया।
पीड़िता की बहन ने बताया कि किसी ने जानकारी दी कि उसके घर से धुंआ उठ रहा है। इसपर वह भागकर घर आई। देखा कि कमरे का दरवाजा अंदर से बंद है। दरवाजा खटखटाने पर खुला। उस वक्त चारों आरोपित अंदर ही थे। उसकी बहन जल रही थी। आरोपित बहन एक कंबल में लपेट रहे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *