Sat. Feb 27th, 2021

केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों को बने गतिरोध को खत्म करने के लिए किसान संगठनों और सरकार के बीच नौवें दौर की वार्ता हो रही है। इस बीच, किसानों के साथ एकजुटता दिखाने और कृषि कानूनों के खिलाफ अपना विरोध जताने के लिए कांग्रेस भी सड़क पर उतर गई है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने ‘किसान अधिकार’ दिवस पर सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ उपराज्यपाल अनिल बैजल के आवास का घेराव करने के लिए राज निवास की ओर बढ़ रहे हैं। इस दौरान राहुल गाधी ने कहा कि हमारे किसान जो कर रहे हैं मुझे उस पर गर्व है और मैं किसानों का पूरा समर्थन करता हूं और मैं उनके साथ खड़ा रहूंगा। राहुल ने कहा कि जब मोदी सरकार किसानों की जमीन छीनने की कोशिश कर रही थी, तब हमने उन्हें रोका था। मोदी सरकार एक बार फिर से किसानों पर आक्रमण कर रही है। कुछ देर पहले राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, देश के अन्नदाता अपने अधिकार के लिए अहंकारी मोदी सरकार के खिलाफ सत्याग्रह कर रहे हैं। पूरा भारत किसानों पर अत्याचार व पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों के विरुद्ध आवाज बुलंद कर रहा है। आप भी जुड़िए और इस सत्याग्रह का हिस्सा बनिये।किसानों के साथ वार्ता के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाई गई कमेटी के लिए नामित 4 सदस्यों में से एक के इस्तीफे के बारे में राहुल गांधी ने कहा कि माया शब्द सुना है आपने माया है माया, पूरा का पूरा मीडिया क्रिएटिड माया है और ये माया टूटने वाली है। जिस दिन ये माया टूटी उस दिन फिर देखना क्या होता है। कानून रद्द होंगे, नरेंद्र मोदी जी को समझ जाना चाहिए कि किसान पीछे हटने वाले नहीं हैं। ये हिन्दुस्तान है पीछे नहीं हटता है, प्रधानमंत्री को नहीं तो कल पीछे हटना पड़ेगा। अगर इंटेलिजेंट होते तो आज ये कर देते राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी हिन्दुस्तान को नहीं समझ रहे हैं, वो सोचते हैं कि किसानों में शक्ति नहीं है और ये 10-15 दिन में चले जाएंगे क्योंकि नरेंद्र मोदी किसान की इज्जत नहीं करते। नरेंद्र मोदी हिन्दुस्तान का किसान नहीं डरेगा, नहीं हटेगा और भागना आपको पड़ेगा। राहुल गांधी ने कहा कि ये तीन कानून किसान को खत्म करने के कानून हैं। इस देश को आजादी अंबानी-अडानी ने नहीं, किसान ने दी है। आजादी को बरकरार हिन्दुस्तान के किसान ने रखा है, जिस दिन देश की खाद्य सुरक्षा चली जाएगी उस दिन देश की आजादी चली जाएगी। कानून रद्द होंगे, नरेंद्र मोदी जी को समझ जाना चाहिए कि किसान पीछे हटने वाले नहीं हैं। ये हिन्दुस्तान है पीछे नहीं हटता है, प्रधानमंत्री को आज नहीं तो कल पीछे हटना पड़ेगा। अगर इंटेलिजेंट होते तो आज ये कर देते राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी हिन्दुस्तान को नहीं समझ रहे हैं, वो सोचते हैं कि किसानों में शक्ति नहीं है और ये 10-15 दिन में चले जाएंगे क्योंकि नरेंद्र मोदी किसान की इज्जत नहीं करते। नरेंद्र मोदी हिन्दुस्तान का किसान नहीं डरेगा, नहीं हटेगा और भागना आपको पड़ेगा। राहुल गांधी ने कहा कि ये तीन कानून किसान को खत्म करने के कानून हैं। इस देश को आजादी अंबानी-अडानी ने नहीं, किसान ने दी है। आजादी को बरकरार हिन्दुस्तान के किसान ने रखा है, जिस दिन देश की खाद्य सुरक्षा चली जाएगी उस दिन देश की आजादी चली जाएगी। राहुल गांधी ने मदुरै में गुरुवार को केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया था कि सरकार किसानों को बर्बाद करने की साजिश कर रही है। राहुल गांधी ने दावा किया कि वो दिन आएगा मोदी सरकार कृषि कानूनों को वापस लेने पर मजबूर हो जाएगी। उन्होंने जोर देकर कहा कि उनके शब्दों को याद रखा जाए। साथ ही यह भी कहा कि कांग्रेस किसानों के साथ खड़ी रहेगी। राहुल ने कहा था केंद्र सरकार अपने दो-तीन मित्रों को फायदा पहुंचाने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों की सिर्फ उपेक्षा ही नहीं कर रही, बल्कि उन्हें बर्बाद करने की साजिश भी कर रही है। बता दें कि दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन आज 51वें दिन भी जारी है। कानूनों को रद्द कराने की जिद पर कायम किसान इस मुद्दे पर सरकार के साथ आर-पार की लड़ाई पर अड़े हुए हैं। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने अगले आदेश तक इन कानूनों पर रोक लगा दी है। इसके साथ ही इस विवाद का हल तलाश करने के लिए एक चार सदस्यीय कमेटी भी गठित की है, लेकिन किसानों ने कमेटी के सदस्यों पर सवाल उठाते हुए कमेटी के सामने पेश होने से साफ इनकार कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *