Fri. Feb 26th, 2021

अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए शहर के उद्योगपति विनोद अग्रवाल (अग्रवाल गु्रप) ने निधि समर्पण महा अभियान के शुभारंभ अवसर पर अपने परिवार की ओर से एक करोड़ रू. की धनराशि का चेक श्रीराम जन्मभूमि निधि समर्पण अभियान के संरक्षक महामंडलेश्वर श्री दादू महाराज को भेंट किया। उन्होंने अभियान की टीम को स्वयं अपने गोयल नगर स्थित आवास पर आमंत्रित कर सहर्ष यह धनराशि भेंट की।
इस अवसर पर आरएसएस के मालवा प्रांत के प्रचारक बलिराम पटेल, इन्दौर विभाग के संघचालक शैलेंद्र महाजन, अभियान की विशेष टोली, मोहल्ला टोली एवं प्रभु प्रेमी संघ के अध्यक्ष सुशील बैरीवाल, मनीष नीम, अशोक बड़जात्या, रूपेश पाल आदि भी उपस्थित थे। विनोद अग्रवाल ने अपनी पत्नी श्रीमती नीना अग्रवाल, पुत्र तपन एवं पुत्रवधू वंशिका अग्रवाल के साथ यह धनराशि समर्पित की। महाअभियान टीम के साथ चर्चा करते हुए विनोद अग्रवाल ने कहा कि हमारी पीढ़ी सौभाग्यशाली है कि हमें 500 वर्ष के संघर्ष के बाद भव्य राममंदिर का निर्माण होता नजर आ सकेगा। इसके निर्माण में गिलहरी से लेकर हनुमानजी जैसा सहयोग मिलना चाहिए, हम अग्रकुल बंधु विशेष भाग्यशाली हैं कि हम भगवान राम के वंशज भी हैं इसलिए मेरा अपने समाजबंधुओं से भी यही आग्रह है कि वे खुले मन और खुले हाथ से भव्य राममंदिर के निर्माण में सहयोग प्रदान करें।
आज से राम मंदिर के लिए निधि समर्पण महाअभियान का शुभारंभ सारे देश में हुआ है। इसी श्रृंखला में मालवा एवं इन्दौर में भी इस अभियान की शुरूआत की गई है। इन्दौर के लिए निधि समर्पण अभियान इस दृष्टि से भी विशेष महत्वपूर्ण हो गया है कि सबसे पहले इन्दौर के उद्योगपति विनोद अग्रवाल ने एक करोड़ रू. का सहयोग स्वप्रेरणा से प्रदान किया है। मंदिर के निर्माण में कुल 1100 करोड़ रू. का खर्च प्रस्तावित है। इस तरह विनोद अग्रवाल ने एक करोड़ रूपया देकर मंदिर निर्माण में सहयोगी 1100 लोगों की सूची में भी अपना नाम दर्ज करा लिया है।
इसके पूर्व आईआईएफएल की सूची में भी उनका नाम 679वें नंबर पर दर्ज हो चुका है। यह भी उल्लेखनीय है कि उद्योगपतियों की इस सूची में अमिताभ और जया बच्चन 1100 करोड़ की संपत्ति के साथ उनसे पीछे 732वें नंबर पर हैं। इन्दौर से पहली बार देश के शीर्ष अमीरों में विनोद अग्रवाल का नाम शामिल किया गया है। उनकी कुल संपत्ति 1200 करोड़ रूपए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *