Sat. Feb 27th, 2021

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह कर्नाटक के बागलकोट में एक रैली में तीनों कृषि कानूनों का समर्थन कर कहा कि इससे किसानों की आय़ कई गुना बढ़ेगी। शाह ने सवाल उठाया कि कांग्रेस अपने शासनकाल में किसान सम्मान , पीएम फसल बीमा जैसी योजना क्यों नहीं लागू कर पाई, क्योंकि उसकी नीयत सही नहीं थी।

शाह ने बागलकोट जिले के केराकलमट्टी गांव में जनसभा के दौरान कहा कि किसानों की आय को दोगुना करना केन्द्र सरकार की सबसे बड़ी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि सत्ता में आने के बाद से मोदी सरकार ने कृषि क्षेत्र के लिए बजट और विभिन्न फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाया था। अगर केन्द्र सरकार की कोई बड़ी प्राथमिकता है तो वह किसानों की आय को दोगुना करना है।” शाह ने कर्नाटक के मंत्री मुरुगेश आर निरानी की अध्यक्षता वाले समूह एमआरएन की किसान-हितैषी परियोजनाओं का शिलान्यास किया।

गृह मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के नेतृत्व में राज्य की भाजपा सरकार ने किसानों के कल्याण के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी है। शाह ने कहा कि मोदी सरकार किसानों के लिए समर्पित है। जो तीन नए कानून सरकार लाई है, उन्हें कर्नाटक सरकार ने भी पारित किया है। इनके कारण किसान की आय कई गुना बढ़ जाएगी। इन तीन नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर किसान विशेषकर पंजाब और हरियाणा के किसान दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे हैं। गृह मंत्री ने कहा कि किसान अपनी उपज को एक स्थान पर बेचने के लिए अब मजबूर नहीं है और अपनी फसलों को वैश्विक और भारतीय बाजारों तक पहुंचा सकते हैं।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि पिछले 70 वर्षों में कश्मीर में अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35 ए के प्रावधानों को निरस्त करने का साहस किसी में नहीं था। शाह का दौरा कर्नाटक भाजपा में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद पनपे असंतोष की दृष्टि से महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *