Wed. Oct 20th, 2021

मुंबई का छत्रपति शिवाजी महाराज अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा अदानी एयरपोर्ट्स को सौंप दिया गया है इस पर केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है। जानकारी के मुताबिक इस एयरपोर्ट में 26 प्रतिशत ‎हिस्सेदारी वाले केंद्र सरकार के भारतीय हवाईअड्डा प्राधिकरण (एएआई) ने इसे मंजूरी दे दी है। मुंबई एयरपोर्ट इससे पहले जीवीके : एएआई सहित दो भागीदारों के मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड कंपनी के पास था। इसमें जीवीके की हिस्सेदारी सबसे अधिक थी। पंरतु जीवीके के आर्थिक संकट में पड़ने से समूह ने दूसरी तरफ से फंड का बंदोबस्त करके एयरपोर्ट पर अपना कब्जा बनाये रखा था परंतु पिछले साल एयरपोर्ट पर आर्थिक लेन-देन में सीबीआई द्वारा अपराध दर्ज करने के बाद जीवीके को अपनी हिस्सेदारी अदानी समूह को बेचने पर मजबूर होना पड़ा।ये डील पूरी होने पर जीवीके की 50.50 फीसदी हिस्सेदारी के साथ मुंबई हवाईअड्डे में अडाणी समूह की हिस्सेदारी 74 फीसदी हो जाएगी। पिछले साल ही कंपनी को 6 हवाईअड्डों के प्रबंधन का ठेका मिला है। इसमें लखनऊ, जयपुर, गुवाहाटी, अहमदाबाद, तिरुवनंतपुरम और मैंगलोर शामिल हैं। बंदरगाह क्षेत्र में मजबूत पकड़ बनाने के बाद Adani Group हवाईअड्डों पर दांव लगा रहा है।बता दें कि उद्योगपति गौतम अदानी के समूह का लक्ष्य देश की सबसे बड़ी एयरपोर्ट प्रबंधक कंपनी बनने का है। मुंबई हवाईअड्डा देश के दूसरा सबसे व्यस्त हवाईअड्डा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *