Fri. Feb 26th, 2021

कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसान आरपार के मूड में आ गए हैं। गुरुवार को किसानों ने सरकार के उस प्रस्ताव को ठुकरा दिया जिसमें सरकार ने कानून को डेढ़-दो साल निलंबित करने को कहा था। संयुक्त किसान मोर्चा ने बैठक कर तीनों कृषि कानून को वापस लेने के लिए सरकार से मांग की है। वहीं, किसान 26 जनवरी को दिल्ली की आउटर रिंग रोड पर ट्रैक्टर रैली निकालने पर अड़े हैं। किसानों के साथ पुलिस की गुरुवार हुई मीटिंग भी बेनतीजा रही। यह लगातार तीसरा दिन था, जब पुलिस ने किसानों को मनाने की कोशिश की। मीटिंग में दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के पुलिस अधिकारी शामिल थे।
पंजाब से 1140 ट्रैक्टर रवाना
ट्रैक्टर रैली के लिए पंजाब के 4 जिलों से 1140 ट्रैक्टरों में सवार होकर किसान दिल्ली के लिए रवाना हुए। अमृतसर से 850 ट्रैक्टरों का जत्था रवाना हुआ। संगरूर से 250 और मोगा से 40 ट्रैक्टर रवाना हुए।
केंद्र से आज फिर बातचीत
सिंघु, टिकरी, गाजीपुर बॉर्डर पर 26 जनवरी के गणतंत्र दिवस समारोह को लेकर तैयारियां हो गई हैं। एक बड़े किसान संगठन के नेता कहा कि 22 जनवरी को केन्द्र सरकार एमएसपी पर खरीद की गारंटी दे और जब तक सहमति न बन जाए, तब तक तीनों कानूनों को निलंबित रखने का भरोसा दें तो बात बन सकती है। दूसरी ओर किसान संगठन तिरंगे झंडे के साथ ट्रैक्टर मार्च करने की रणनीति को आगे बढ़ाने में जुट गए हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *