Tue. Mar 2nd, 2021

विशेष प्रतिनिधि

नई दिल्ली । मद्रास उच्च न्यायालय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बीच शिखर वार्ता से पहले तमिलनाडु के महाबलीपुरम में जोर शोर से चल रहे सफाई अभियान का उल्लेख करते हुए गुरुवार को अपनी मौखिक टिप्पणी में कहा कि नेताओं को तमिलनाडु का दौरा अक्सर करना चाहिए, ताकि राज्य साफ-सुथरा बना रहे। न्यायमूर्ति एस. वैद्यनाथन और न्यायमूर्ति सी. सरवनन की अवकाश पीठ ने अवैध बैनर लगाने वालों को अधिकतम सजा देने के लिए विशेष कानून बनाए जाने मांग करने वाली याचिका की सुनवाई के दौरान यह टिप्पणी की। अवैध बैनर गिरने से एक महिला आर सुबाश्री की मौत हो गई थी। महिला के पिता ने यह याचिका दायर की है। पीठ ने कहा कि अब महाबलीपुरम बहुत साफ हो गया है। जब बड़े नेता आते हैं, सरकार तभी ऐसे कदम उठाती है। यदि तमिलनाडु को साफ-सुथरा बनाना है तो ऐसे नेताओं को अक्सर दौरे करते रहने होंगे। मोदी और शी की शुक्रवार को यहां से करीब 50 किलोमीटर दूर महाबलीपुरम में बैठक होनी है। इसके मद्देनजर चेन्नई और महाबलीपुरम में युद्ध स्तर पर सफाई और सौंदर्यीकरण का काम हुआ। इसी का जिक्र करते हुए न्यायाधीशों ने यह टिप्पणी की। मामले में आगे की सुनवाई के लिए 15 अक्टूबर की तिथि तय की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *