Dark Mode
  • Wednesday, 19 June 2024
लाल किला हमले का दोषी आरिफ जल्द चढ़ेगा सूली, तिहाड़ जेल ने डेथ वारंट जारी करने के लिए अदालत को पत्र लिखा

लाल किला हमले का दोषी आरिफ जल्द चढ़ेगा सूली, तिहाड़ जेल ने डेथ वारंट जारी करने के लिए अदालत को पत्र लिखा

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में साल 2000 में लाल किले पर हुए हमले का दोषी जल्द ही फांसी के फंदे पर लटक सकता है। दिल्ली कारागार विभाग ने लाल किला हमले के दोषी के खिलाफ डेथ वारंट (Death Warrant) जारी करने के लिए दिल्ली की एक अदालत को पत्र लिखा है।

अधिकारियों ने सोमवार को इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल नवंबर में लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के आतंकवादी मोहम्मद आरिफ उर्फ अशफाक की उस याचिका को खारिज कर दिया था, जिसमें उसे मौत की सजा देने के अपने फैसले की समीक्षा मांग की गई थी।

एक वरिष्ठ जेल अधिकारी ने कहा कि उन्होंने इस महीने की शुरुआत में अदालत को लिखा है और आगे की प्रक्रिया शुरू की है। आरि अपनी सजा कम करने के लिए राष्ट्रपति से अपील नहीं की है। अधिकारी ने कहा कि कोर्ट में यह मामला 27 फरवरी के लिए सूचीबद्ध है।

22 दिसंबर 2000 की रात को, कुछ आतंकी दिल्ली के लालकिले में घुस गए थे, जहां भारतीय सेना की राजपूताना राइफल्स की यूनिट 7 तैनात थी और उन पर गोलियां चला दीं। उस हमले में सेना के तीन जवान शहीद हो गए थे। आतंकी बाद में लालकिले की पिछली ओर की बाउंड्री को लांघ कर भाग निकले थे।

अक्टूबर 2005 में निचली अदालत ने आरिफ को मौत की सजा सुनाई थी, सितंबर 2007 में दिल्ली हाईकोर्ट ने सजा को बरकरार रखा था। इसके बाद उसने हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। यहां से भी उसे कोई राहत नहीं मिली और अगस्त 2011 में सुप्रीम कोर्ट ने आरिफ को दी गई मौत की सजा पर अपनी मुहर लगा दी थी।

Comment / Reply From

You May Also Like

Newsletter

Subscribe to our mailing list to get the new updates!