Dark Mode
  • Tuesday, 18 June 2024
शराब घोटाले के बाद किस जाँच में 'क्लीनचिट' की खुशी  मना रहे केजरीवाल;  LG पर निशाना

शराब घोटाले के बाद किस जाँच में 'क्लीनचिट' की खुशी मना रहे केजरीवाल; LG पर निशाना

नई दिल्ली। शराब घोटाले के आरोपों से घिरी दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने गेस्ट टीचर भर्ती में क्लीनचिट का दावा किया है। एक मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एलजी का नाम लिए बिना कहा है कि 24 घंटे फर्जी जांच की जा रही है और हर काम में रोड़े अटकाए जा रहे हैं। 'आप' के अन्य नेताओं ने भी एलजी को निशाने पर लिया है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि डायरेक्टोरेट ऑफ एजुकेशन को एलजी के आदेश पर की गई जांच में कोई गड़बड़ी नहीं मिली है।

 

जिस मीडिया रिपोर्ट का केजरीवाल ने हवाला दिया है उसमें कहा गया है दिल्ली के सरकारी स्कूलों में गेस्ट टीचर्स रखे में गड़बड़ी के आरोपों के बाद 106 केसों की जांच की गई और इनमें कोई भी गड़बड़ी नहीं मिली है। सितंबर 2022 में एलजी वीके सक्सेना ने आंतरिक जांच का आदेश दिया। आरोप लगा था कि ऐसे गेस्ट टीचर्स को भी पेमेंट किया जा रहा है, जो असल में मौजूद ही नहीं हैं।

 

रिपोर्ट में डीओई के एक अधिकारी के हवाले से कहा गया है कि आंतरिक जांच के दौरान शुरुआत में 109 केसों की जांच की गई, जिनमें जिला शिक्षा अधिकारी ने गड़बड़ी के आरोप लगाए थे। इसको लेकर डिपार्टमेंट में बैठक हुई और आगे केसों की जांच की गई। सभी दस्तावेजों की जांच की गई। भर्ती नियमों में कुछ बदलाव की वजह से जिला शिक्षा अधिकारी को लगा कि इसमें समस्या है, लेकिन यह साफ किया गया कि सबकुछ ठीक ठाक है।

 

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने मीडिया रिपोर्ट को ट्विटर पर साझा किया और इशारों में एलजी पर निशाना साधते हुए लिखा, '24 घंटे फर्जी जांच हर काम में रोड़े अटकाना हर काम रोकना। इस से क्या हासिल होगा?' 'आप' की ओर से कहा गया, 'सितंबर 2022 में एलजी सक्सेना ने दावा किया था कि गेस्ट टीचर्स भर्ती में बड़ा घोटाला हुआ और जांच के आदेश दिए थे। 6 महीने बाद मार्च 2023 में उनकी अपनी ही जांच ने निराधार आरोपों की पोल खोल दी है। इसी तरह बीजेपी के एलजी हमारे सभी कामों को 24 घंटे रोकते हैं। उनके सभी आरोप झूठे हैं।'

 

 

Comment / Reply From

You May Also Like

Newsletter

Subscribe to our mailing list to get the new updates!